Breaking News
Pay Now
Home 25 100 बात की एक बात 25 अकेला अब हो गये अकेला,100 बात की एक बात

अकेला अब हो गये अकेला,100 बात की एक बात

Spread the love

                          अकेला अब हो गये अकेला

सूर्या बुलेटिन(गाजियाबाद) डॉ अरविंद अकेला के सर कलम करने की धमकी वाली खबर तो सभी ने पढ़ी या सुनी होगी.ये खबर आग की तरह पूरे प्रदेश में फैल गयी.डॉ अरविंद अकेला और उसका परिवार भय की स्थिति में आ गया.पुलिस ने प्राथमिकी लिखकर जाँच शुरु कर अपराधी को भी जगड लिया.मेरे संज्ञान में इस तरह के केस का पहला खुलासा है.लेकिन उसके बाद प्रसाशन ने ये सिद्ध कर दिया की ये व्यक्ति डॉ का पूर्व से जानने वाला है इस लिए ये सिद्ध होता हे की ये घटना खुद डॉ ने कराई है.में प्रसाशन की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह नही लगा रहा हूँ यदि डॉ ने गलत किया है तो सजा मिले,मगर उसके दोष के मुताबिक,क्योकि इसकी सजा मौत भी नही है.कमलेश तिवारी की हत्या करने वाले भी पूर्व जानकर थे,डॉ बीएस तोमर की हत्या करने वाले भी पूर्व जानकर थे व कन्हैयालाल लाल की हत्या करने वाले भी पूर्व के जानकार थे.इससे यह सिद्ध नही होता की उसने धमकी नही दी होगी.पिछले एक महीने में गाजियाबाद पुलिस ने कई ऐसे मामलो का खुलासा किया है जिसमे धमकी देने के साथ साथ लूट व अपहरण करने की साजिस में पीड़ित के दोस्त व रिश्तेदार निकले और प्रसाशन ने उन्हें जेल भेज दिया.लेकिन डॉ साहब के इस मामले में प्रसाशन के इस रवैये से जिहादियो का रास्ता बिलकुल साफ हो गया है और अकेला की मौत भी निश्चित हो गयी है साथ ही जो कार्यवाही डॉ साहब के ऊपर की गयी है वो बेचारे इन्ही में उलझ कर रह जायेगे अपने को सुरक्षित करने की बजाय.100 बात की एक बात ये की डॉ अकेला अब बिलकुल अकेला हो गये.गाजियाबाद से लेकर पूरे प्रदेश से किसी भी हिन्दू संघटन ने आवाज तक नही उठाई है और डॉ अकेला को मरने के लिए छोड़ दिया है.अब ये आप को सोचना है की वास्तव में अकेला दोषी है या नही? यदि उसका कोई दोष है तो क्या उसकी सजा मौत है ?

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*