Breaking News
Pay Now
Home 25 उत्तर प्रदेश 25 चंदौली: निशा यादव के परिजन से मिले अखिलेश, बोले- ‘बेटी की जान पुलिस की दबंगई से गई’

चंदौली: निशा यादव के परिजन से मिले अखिलेश, बोले- ‘बेटी की जान पुलिस की दबंगई से गई’

Spread the love

सूर्या बुलेटिन : चंदौली जिले के सैयदराजा क्षेत्र में पुलिस दबिश के दौरान संदिग्ध परिस्थितियों में हुई निशा यादव नामक युवती की मौत मामले में सोमवार को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मृतका के परिजनों से मुलाकात की. मृतका के घरवालों से मिलने के बाद अखिलेश ने प्रेस वार्ता की. इस दौरान अखिलेश ने यूपी पुलिस पर जमकर हमला बोला.

एसपी चीफ ने कहा,

“मैं परिवार के सदस्यों से मिलकर आ रहा हूं. परिवार के सदस्य परेशानी में हैं. उन्होंने अपनी बेटी खोई है. उसकी (मृतका) बहन अभी भी सदमे से बाहर नहीं आ पाई है…अभी तक ठीक से उसने खाना नहीं खाया है. पूरे देश में ऐसी घटना नहीं हुई होगी, जहां पुलिस घर में घुस गई हो और दबिश के बहाने दबंगई की हो. यूपी पुलिस लगातार दबंगई कर रही है.”

अखिलेश यादव

उन्होंने आगे कहा, “जान-भूझकर पुलिस ने मृतका के पिता पर केस लगाए और राजनीतिक दबाव के कारण जिलाबदर तक किया गया. सवाल यह है कि पुलिस को अधिकार किसने दिया कि वो बड़ी संख्या में आएगी और घर में घुसकर मारपीट करेगी? बेटी की जान पुलिस की दबंगई से गई है.”

एसपी चीफ ने कहा,

  • “सबसे ज्यादा कस्टोडियल डेथ यूपी में हो रही हैं.”
  • “सबसे ज्यादा फेक एनकाउंटर यूपी में हो रही हैं.”
  • “महिला आयोग से अगर सबसे ज्यादा नोटिस किसी को मिले हैं, तो वो यूपी सरकार को मिले हैं.”

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा, “आप पता करा लीजिए किस तरीके से थानों में दलाली का सेंसेक्स बढ़ रहा है और जात के आधार पर फैसले होते हैं.”

अखिलेश यादव ने कहा, “मुख्यमंत्री जी ललितपुर में कह रहे थे राम राज्य आ गया, जहां पर उन्हीं की सरकार की पुलिस के एक अधिकारी ने रेप कर दिया हो. मुख्यमंत्री जी से जब शिकायत की गई हो कि अधिकारी बेपनाह लूट रहे हैं, तो मुख्यमंत्री जी अपने जनप्रतिनिधियों को कहते हैं कि आप पहले दलाली रोक लो, इन अधिकारियों को मैं सुधार लूंगा.”

एसपी चीफ ने कहा, “मैं जानना चाहता हूं कि ये सरकार जो बुल्डोजर लेकर घूम रही है, बताइए ललितपुर के थाने पर बुल्डोजर कब चलेगा? और इस जगह पर जिन लोगों ने जान ली है बेटी की उनके घरों पर बुल्डोजर कब चलेगा?”

क्या है मामला?

आपको बता दें कि चंदौली जिले के सैयदराजा क्षेत्र में बीते रविवार को पुलिस की दबिश के दौरान संदिग्ध परिस्थितियों में निशा यादव नामक युवती की मौत हो गई थी. इस मामले में निलंबित थानाध्यक्ष समेत छह पुलिसकर्मियों के खिलाफ गैर-इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है.

चंदौली के पुलिस अधीक्षक अंकुर अग्रवाल ने बताया था कि सैयदराजा थाना क्षेत्र के मनराजपुर गांव में पुलिस का एक दल रविवार को एक बालू कारोबारी को पकड़ने के लिये उसके घर पहुंचा था. आरोप है कि पुलिस ने कारोबारी के घर पर नहीं मिलने पर उसके परिजन से मारपीट की. उन्होंने बताया कि परिजन का आरोप है कि एक पुलिसकर्मी ने घटना के दौरान कारोबारी की 24 साल की बेटी से रेप किया तथा मारपीट और जोर-जबर्दस्ती के कारण उसकी मौत हो गई. युवती की अगले महीने शादी होने वाली थी.

अग्रवाल ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने पर ग्रामीणों ने पुलिस दल को घेर लिया और सिपाही मुकेश कुमार और होमगार्ड के जवान छविनाथ को पीट-पीटकर घायल कर दिया.

About Amit Pandey